Yugm shabd(Combination words)-||युग्म-शब्द||

February 20, 2021

Yugm shabd-(युग्म-शब्द )की परिभाषा

हिंदी के अनेक शब्द ऐसे हैं, जिनका उच्चारण प्रायः समान होता हैं। किंतु, उनके अर्थ भिन्न होते है। इन्हे ‘युग्म शब्द’ कहते हैं।

दूसरे शब्दों में- हिन्दी में कुछ शब्द ऐसे हैं, जिनका प्रयोग गद्य की अपेक्षा पद्य में अधिक होता है। इन्हें ‘युग्म शब्द’ या ‘समोच्चरितप्राय भित्रार्थक शब्द’ कहते हैं।

हिन्दी भाषा की एक खास विशेषता है- मात्रा, वर्ण और उच्चारण प्रधान-भाषा। इसमें शब्दों की मात्राओं अथवा वर्णों में परिवर्तन करने से अर्थ में काफी अन्तर आ जाता है।

अतएव, वैसे शब्द, जो उच्चारण की दृष्टि से असमान होते हुए भी समान होने का भ्रम पैदा करते हैं, युग्म शब्द अथवा ‘श्रुतिसमभिन्नार्थक’ शब्द कहलाते हैं।
श्रुतिसमभिन्नार्थक का अर्थ ही है- सुनने में समान; परन्तु भिन्न अर्थवाले।

इस बात को हम कुछ उदाहरणों द्वारा समझने का प्रयास करेंगे।
पार्वती को भोलेनाथ भी कहा जाता है।
यह वाक्य अशुद्ध है; क्योंकि पार्वती का अर्थ है : शिव की पत्नी- शिवा। उक्त वाक्य होना चाहिए-
‘पार्वती’ शिव का ही दूसरा नाम है।

इसी तरह, यदि किसी मेहमान के आने पर ऐसा कहा जाय : आइए, पधारिए, आप तो हमारे श्वजन हैं।
यदि अतिथि पढ़ा-लिखा है तो निश्चित रूप से वह अपमान महसूस करेगा; क्योंकि ‘श्वजन’ का अर्थ है, कुत्ता। इस वाक्य में ‘श्वजन’ के स्थान पर ‘स्वजन’ होना चाहिए।

हमने दोनों वाक्यों में देखा : प्रथम में मात्रा के कारण अर्थ में भिन्नता आ गई तो दूसरे में वर्ण के हेर-फेर और गलत उच्चारण करने से। हमें इस तरह के शब्दों के प्रयोग में सावधानी बरतनी चाहिए, अन्यथा अर्थ का अनर्थ हो सकता है।

यहाँ ऐसे युग्म शब्दों की सूची उनके अर्थो के साथ दी जा रही है-

( अ, अं, अँ )

शब्दअर्थशब्दअर्थ
अंसकंधाअंशहिस्सा
अँगनाघर का आँगनअंगनास्त्री
अन्नअनाजअन्यदूसरा
अनिलहवाअनलआग
अम्बुजलअम्बमाता, आम
अथकबिना थके हुएअकथजो कहा न जाय
अध्ययनपढ़नाअध्यापनपढ़ाना
अधमनीचअधर्मपाप
अलीसखीअलिभौंरा
अन्तसमाप्तिअन्त्यनीच, अन्तिम
अम्बुजकमलअम्बुधिसागर
असनभोजनआसनबैठने की वस्तु
अणुकणअनुएक उपसर्ग, पीछे
अभिरामसुन्दरअविरामलगातार, निरन्तर
अपेक्षाइच्छा, आवश्यकता, तुलना मेंउपेक्षानिरादर
अवलम्बसहाराअविलम्बशीघ्र
अतुलजिसकी तुलना न हो सकेअतलतलहीन
अचरन चलनेवालाअनुचरदास, नौकर
अशक्तअसमर्थ, शक्तिहीनअसक्तविरक्त
अगमदुर्लभ, अगम्यआगमप्राप्ति, शास्त्र
अभयनिर्भयउभयदोनों
अब्जकमलअब्दबादल, वर्ष
अरिशत्रुअरीसम्बोधन (स्त्री के लिए)
अभिज्ञजाननेवालाअनभिज्ञअनजान
अक्षधुरीयक्षएक देवयोनि
अवधिकाल, समयअवधीअवध देश की भाषा
अभिहितकहा हुआअविहितअनुचित
अयशअपकीर्त्तिअयसलोहा
असितकालाअशितभोथा
आकरखानआकाररूप
आस्तिकईश्वरवादीआस्तीकएक मुनि
आर्तिदुःखआर्त्तचीख
अन्यान्यदूसरा-दूसराअन्योन्यपरस्पर
अभ्याशपासअभ्यासरियाज/आदत

admin